One lakh soldiers will be reduced from Indian Army

146
One lakh soldiers
One lakh soldiers

One lakh soldiers will be reduced from Indian Army भारतीय सेना में होने वाले है बदलाब , सेना की लाजिस्टक टेल को छोटा करने की तैयारी की जा रहा है। सेना की लड़ाकू टुकड़ियों के साथ सप्लाई एवं सपोर्ट में लगे जवानों की संख्या में कमी होगी। सेना ने अगले चार सालों के अंदर करीब दो लाख जवानों को कम करने का लक्ष्य रखा है।

सेना के अधिकारियों ने हाल में रक्षा मंत्रालय से संबद्ध संसदीय समिति को यह जानकारी दी है। लड़ाकू जवानों (इंफ्रेंट्री) पर फोकस किया जा रहा है। उन्हें आधुनिक तकनीक से लैस किया जाएगा। क्योंकि सीमाओं की सुरक्षा का ज़िमेदारी जवानों पर है। उनके जरुरत कि चीज दी जाएगी। और ‘टूथ टू टेल रेशियो’ में कमी की जाएगी।

सप्लाई और सपोर्ट कार्य में लगे जवानों की संख्या कम की जाएगी। जवानों की लड़ाकू टुकड़ियों के साथ अभी एक निश्चित संख्या में सप्लाई एवं सपोर्ट टीम रहती है। जो तमाम संसाधनों की उपलब्धता सुनिश्चित करती है। लेकिन जिस प्रकार से सेना में अत्याधुनिक तकनीकों का इस्तेमाल बढ़ रहा है, उसमें इस प्रकार की व्यवस्था को अब गैर जरूरी माना जा रहा है।

One lakh soldiers will be reduced from Indian Army

सरकार ने कहा 80 लोग कर सकते हैं 120 लोगों का काम
संसदीय समिति को उदाहरण देकर समझाया गया कि सेना की एक लड़ाकू कंपनी में अभी 120 लोग होते हैं। लेकिन यदि इस कंपनी को तकनीक से लैस कर दिया जाए तो वही कार्य 80 लोग कर सकते हैं जिसमे 120 लोगों द्वारा अभी किया जा रहा है।

सैनिकों को और ज्यादा शक्तिशाली बनाया जयेगा।
जनरल वी. पी. मलिक जब सेना प्रमुख थे तो 50 हजार लोगों की कमी की गई थी लेकिन अब अगले चार सालों में एक लाख लोग कम किए जा सकते हैं। इससे जो राशि बचेगी वह सैनिकों को तकनीक से लैस करने में खर्च की जा सकेगी। समिति की यह रिपोर्ट हाल में हाल में संपन्न हुए सत्र के दौरान संसद में पेश हो चुकी है।

Previous articleKisan Tractor Rally: लाल किले में घुस कर झंडा फहराने की कोशिश की
Next articleSRH vs KKR 2021, Win Prediction, IPL Match 2021, Google Prediction, Stadium

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here